Wednesday, September 22, 2021
No menu items!

PDS चावल की जब्ती के खिलाफ नवादा में प्रदर्शन: लाभुकों का आरोप- सड़ा चावल मिलता है, इसलिए बेच देते हैं, फिर पुलिस दुकानदार को पकड़ लेती है

Must Read


नवादाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

अंधरवारी गांव से दर्जनों की संख्या में पहुंचे लाभुकों ने एसडीओ मुर्दाबाद-एमओ मुर्दाबाद के नारे लगाए।

नवादा जिले के नक्सल प्रभावित इलाके रजौली में पीडीएस से मिले सड़े चावल को बाजार में बेचने पर खरीददार के विरुद्ध एसडीओ द्वारा सोमवार को कालाबाजारी के नाम पर ट्रक जब्त कर लेने के मामले में रजौली के अंधरवारी के दर्जनों लाभुकों ने एमओ ऑफिस का घेराव कर नारेबाजी की। अंधरवारी गांव से दर्जनों की संख्या में पहुंचे लाभुकों ने एसडीओ मुर्दाबाद-एमओ मुर्दाबाद के नारे लगाए। आक्रोशित लाभुक सोमवार को एसडीओ आदित्य कुमार पीयूष के निर्देश पर एडीएसओ व एमओ द्वारा पकड़े गए पीडीएस का चावल लोड ट्रक को छुड़वाने के लिए खरीददार रंजीत कुमार की ओर से एमओ ऑफिस का घेराव करने पहुंचे थे।

हालांकि जिस समय लाभुक पहुंचे, उस समय एमओ अपने कार्यालय में नहीं थे। जानकारी मिली कि वे अनुमंडल कार्यालय गए हुए हैं। एमओ के नहीं रहने पर कार्यालय पहुंचे लाभुकों ने नारेबाजी करनी शुरू कर दी।

घेराव करने पहुंचे लाभुकों रामचंद्र प्रसाद, वीरेंद्र कुमार और विजय कुमार आदि ने बताया कि जन वितरण की दुकान से जो चावल उन्हें दिया जाता है, वह खाने के लायक नहीं है। उसमें सफेद रंग का कीड़ा होता है, जिसके कारण मजबूर होकर वे लोग उस चावल को बेचकर दूसरा अनाज खरीद लेते हैं और वही खाते हैं। जब उन्हें खाने योग्य चावल मिलेगा तो वे लोग चावल क्यों बेचेंगे।

लाभुकों का कहना था कि वे लोग जिस दुकान में चावल बेचते हैं, उस दुकानदार को उस खरीदे गए चावल को बाहर बेचने में कालाबाजारी के नाम पर एसडीओ के द्वारा पकड़ लिया जाता है। ऐसे में उनलोगों से अब कोई भी दुकानदार चावल लेने के लिए तैयार नहीं है। जिससे उन लोगों के समक्ष एक विकट परिस्थिति उत्पन्न हो गई है। या तो पीडीएस के द्वारा हमें खाने योग्य चावल मिले, या तो फिर सड़े हुए चावल को लेकर उसे बाजार में बेचकर खाने योग्य अनाज लेने की छूट दी जाए। लाभुकों का कहना था कि एसडीओ और एमओ दोनों पदाधिकारी मिलकर क्षेत्र में मनमानी कर रहे हैं। उनलोगों को जानबूझकर परेशान किया जा रहा है।

गौरतलब है कि 13 सितंबर को अंधरवारी पंचायत के परमचक गांव के गल्ला व्यवसायी रंजीत कुमार के दुकान के पास एक चावल लदा ट्रक खड़ा था। इसी बीच किसी ने इसकी कालाबाजारी करने की सूचना एसडीओ आदित्य कुमार पीयूष को दी। सूचना के आलोक में एसडीओ ने एडीएसओ और एमओ को जांच के लिए भेजा। अधिकारियों ने वहां पहुंचकर ट्रक को देखा तो उसमें चावल लोड था। जिसके बाद एसडीओ के निर्देश पर चावल लोड ट्रक को थाने लाया गया।

ट्रक को रजौली लाने के क्रम में भी दर्जनों लाभुकों ने अधिकारियों को बताया था कि ट्रक पर लोड चावल उन लोगों ने बेचा है। लेकिन जांच के लिए पहुंचे अधिकारियों ने उनकी एक भी न सुनी और ट्रक को जब्त कर रजौली ले आए। ट्रक जब्त किए दो दिन बीत चुके हैं, बावजूद अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है।

खबरें और भी हैं…


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -
Latest News

Govt estimates report kharif output | India News – Periods of India

NEW DELHI: Towards the backdrop of improved monsoon rainfall and amplified acreage of summer sown crops, the agriculture...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -
%d bloggers like this: