Thursday, October 21, 2021
No menu items!

Jammu Kashmir: नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता हत्याकांड में संदिग्ध का कबूलनामा, फेसबुक पर 27 पॉइंट बताई पूरी घटना

Must Read


Jammu Kashmir के नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता त्रिलोचन सिंह की हत्या मामले में हरमीत नाम के शख्स ने फेसबुक पर किया कबूलनामा, दिल्ली पुलिस तलाश में जुटी

नई दिल्ली। जम्मू कश्मरी ( Jammu and Kashmir ) में नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता त्रिलोचन सिंह वजीर ( Trilochan Singh Wazir ) की दिल्ली के मोती नगर इलाके में हुई हत्या मामले में संदिग्ध का कबूलनामा सामने आया है। दिल्ली पुलिस ( Delhi Police ) के सामने हरमीत सिंह नामक संदिग्ध का फेसबुक प्रोफाइल आया है।

खास बात यह है कि हरमीत सिंह नाम के इस शख्स ने 27 पॉइंट में पूरी घटना का जिक्र किया है। यही नहीं इस शख्स ने सुसाइड करने की बात भी लिखी है। जम्मू निवासी हरमीत सिंह ने दावा किया है कि हत्या उसने की है, हरप्रीत ने नहीं।

यह भी पढ़ेंः Delhi: राजधानी में मिला नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता का शव, जानिए क्या बोले उमर अब्दुल्ला

हरमनीत सिंह नाम के शख्स के कबूलनामे को लेकर अब दिल्ली पुलिस हरकत में आई है। पुलिस की क्राइम ब्रांच ये वेरीफाई कर रही है कि हरमीत सिंह के फेसबुक प्रोफाइल पर अपलोड किया गया 5 पेज का लेटर सच में हरमीत सिंह का कबूलनामा और सुसाइड नोट है या फिर पुलिस जांच को भटकाने के लिए कोई साजिश।

हरमीत के एफबी प्रोफाइल पर ये 5 पेज शनिवार सुबह 4 बजकर 5 मिनट से 4 बजकर 11 मिनट तक अपलोड किए गए। दिल्ली पुलिस के मुताबिक लगातार हरप्रीत और हरमीत की तलाश में छापेमारी की जा रही है।
हरमीत का फोन शुक्रवार तड़के सात मिनट के लिए ऑन हुआ और फिर ऑफ कर दिया। जब टेक्निकल सर्विलांस की मदद ली गयी तो लोकेशन जम्मू सामने आई।

गोली मार कर की हत्या
हरमीत सिंह के फेसबुक प्रोफाइल पर 5 पन्ने पोस्ट किए गए थे उसमें 27 पॉइंट लिखे हुए थे। इन पॉइंट में ये दावा किया गया कि ये सब कुछ हरमीत सिंह ने लिखा है और हरमीत सिंह ने ही त्रिलोचन सिंह वजीर की गोली मार कर हत्या की है।

फेसबुक पर किया कबूलनामा
पांच पेज के कंफेशन कम सुसाइड नोट में दावा किया गया है कि हरमीत सिंह दिल्ली में हरप्रीत सिंह खालसा के घर रुका हुआ था। टीएस वजीर कनाडा जाने की तारीख से 1 दिन पहले हरप्रीत के पास आ गया।
हरप्रीत ने हरमीत सिंह से कहा कि आप होटल चले जाओ, वजीर आपको देख कर गुस्सा होगा। हरमीत सिंह होटल चला गया।

कुछ देर बाद हरप्रीत के घर गया। जाली का दरवाजा बंद था लेकिन बाहर का गेट खुला था। अंदर से दोनों की बात करने की आवाज आ रही थी।

वजीर हरप्रीत से कह रहा था कि हरमीत को मारने के लिए 4 करोड़ की सुपारी दी गई है। मैं कनाडा से जब तक वापस लौटूंगा, हरमीत को मार दिया जाएगा, फिर मेरा शहर पर पूरा राज होगा।

हरमीत अंदर गया और वजीर पर भड़क गया। हरप्रीत ने उसे शांत करवाया। फिर हरप्रीत कोल्ड ड्रिंक लेने बाहर गया। मुझे पता चला कि वजीर के पास गन है, मैं उसके पीछे गया और उसे गोली मार दी।

यह भी पढ़ेँः Jammu Kashmir: चानापोरा में आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फेंका ग्रेनेड, एक जवान जख्मी

खुद को बताया हत्या का जिम्मेदार
इस लेटर में हरमीत ने लिखा है कि हरप्रीत बेकसूर है। मैं हत्या के लिए जिम्मेदार हूं। मैं सुसाइड कर रहा हूं, अपने परिवार और बेटे को संबोधित करते हुए ध्यान रखने को कहा है। लेटर के अंत में हरमीत सिंह ने जम्मू का पता लिखा है और अंगूठे के दो निशान लगाए हैं।




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -
Latest News
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -
%d bloggers like this: