Friday, October 15, 2021
No menu items!

अगर सोते समय आपको भी सांस लेने में दिक्कत होती है, तो आप भी हो सकते हैं नींद से होने वाली बीमारी के शिकार

Must Read


ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया obstructive rest apnea: ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया नींद से संबंधित एक आम सांस की बीमारी है जो हर 5 में से 1 इंसान हो हो सकता है| इसके कारण आप बार-बार सोते समय उठ जाते हैं क्युकी सांस लेने में परेशानी महसूस होने लगती है|

लखनऊ.ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया obstructive sleep apnea: ‘डेंटल स्लीप मेडिसिन’ पर एक सम्मेलन के अनुसार भारत में करीब 40 लाख लोग, खासकर बुजुर्ग और मोटे लोग ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया (ओएसए) सिंड्रोम से पीड़ित हैं। इसमें मोटापा, जीवन शैली का तनाव और दांतों का पूरा गिरना एयर पैसेज में रूकावट पैदा कर सकता है जिससे सांस लेने में दिक्कत आ सकती है| अगर ऐसी स्थिति लंबे समय तक बनी रहती है और लापरवाही बरती जाती है, तो यह शरीर की ऑक्सीजन की आवश्यकता को प्रभावित करने के साथ हृदय और श्वसन संबंधी बीमारियां पैदा कर सकता है|

ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया (Obstructive Slumber Apnea)
यह एपनिया का एक कॉमन टाइप है। इसमें एयर पैसेज में रुकावट के कारण सांस लेने में दिक्कत होने लगती है। एक रिपोर्ट के अनुसार, स्लीप एपनिया के 90-96 प्रतिशत मामले इसी से जुड़े होते हैं।

ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया के लक्षण (Indications of Obstructive Snooze Apnea)
-दिन में बहुत नींद आना
-जोर से खर्राटे लेना
-हांफने या घुटन के साथ अचानक जागना
-शुष्क मुँह या गले में खराश के साथ जागना
-सुबह उठते ही सिरदर्द होना
-दिन के दौरान ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई होना
-मनोदशा में बदलाव, जैसे अवसाद या चिड़चिड़ापन
-हाई ब्लड प्रेशर

ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया का कारण (Brings about of Obstructive Rest Apnea)
ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया तब होता है जब आपके गले के पीछे की मांसपेशियां सामान्य सांस लेने की अनुमति देने में थोड़ा समय लगाता है जिससे आपका मस्तिष्क इस धीमी गति की प्रक्रिया को महसूस करता है और आपको थोड़ी देर के लिए नींद से जगाता है ताकि आप अपने एयर पैसेज को फिर से खोल नार्मल सांस ले सकें|

ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया का दुष्प्रभाव (Danger variables of Obstructive Rest Apnea)
अधिक वज़न (Excessive fat)- ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया वाले अधिकांश लोग अधिक वजन वाले होते हैं। एयर पैसेज के आसपास फैट जमा होने से सांस लेने में रुकावट पैदा होने लगती है। मोटापे से जुड़ी बीमारियां जैसे हाइपोथायरायडिज्म और पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम भी इस बीमारी का कारण बन सकती हैं।
बढ़ती उम्र (Older age)- बढ़ती उम्र के साथ ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया का खतरा बढ़ जाता है लेकिन 60 और 70 वर्ष के बाद यह स्तर बंद हो जाता है।
उच्च रक्तचाप Superior blood pressure (Hypertension)– उच्च रक्तचाप वाले लोगों में ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया एक बहुत आम बात है।
धूम्रपान (Cigarette smoking)– जो लोग धूम्रपान करते हैं उनमें ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया होने की संभावना अधिक होती है।
मधुमेह (Diabetic issues)– मधुमेह वाले लोगों में ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया होना एक आम बात हो सकती है।
स्लीप एपनिया का पारिवारिक इतिहास (A family heritage of slumber apnea)– परिवार के सदस्यों को ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया होने से आपका जोखिम बढ़ सकता है।
दमा (Bronchial asthma)– शोध में अस्थमा और ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया के जोखिम के बीच संबंध पाया गया है।

यह भी पढ़ें – बालों को झड़ने से रोकने के लिए अपने खाने में आज ही शामिल करें यह 5 चीजें

अन्य बीमारियां होने के चान्सेस (Issues in Obstructive Rest Apnea)
दिन में थकान और नींद आना (Daytime fatigue and sleepiness)- रात में आराम की नींद की कमी के कारण, दिन में थकान और चिड़चिड़ापन, ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई हो सकती है|
ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया वाले बच्चे और युवा स्कूल में खराब प्रदर्शन कर सकते हैं और आमतौर पर ध्यान या व्यवहार संबंधी समस्याएं होती हैं।

हृदय संबंधी समस्याएं (Cardiovascular complications)- ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया के दौरान खून में ऑक्सीजन के स्तर में अचानक गिरावट आने से रक्तचाप बढ़ जाता है और हृदय प्रणाली पर दबाव पड़ता है जिससे हृदय रोग का खतरा बढ़ सकता है और कोरोनरी धमनी(veins) की बीमारी, दिल के दौरे और स्ट्रोक का चांस बढ़ जाता है|

आंखों की समस्या (Eye challenges)- कुछ शोधों में ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया और कुछ आंखों की स्थिति, जैसे ग्लूकोमा के बीच संबंध पाया गया है। आंखों की परेशानियों का आमतौर पर इलाज किया जा सकता है।

ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया और COVID-19 (Obstructive Sleep Apnea and COVID-19)

ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया COVID-19 के लिए एक जोखिम साबित हो सकता है। ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया वाले लोगों में COVID-19 का एक गंभीर रूप विकसित होने और अस्पताल में इलाज की आवश्यकता वाले लोगों की तुलना में अधिक जोखिम में पाया गया है, जिन्हें ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया नहीं है।

यह भी पढ़ें – कैंसर बनने से पहले करें गॉलब्लेडर में स्टोन का घरेलू उपचार, जानें पूरी जानकारी














LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -
Latest News

“Everything Sorted”: Navjot Sidhu Meets Rahul Gandhi, Cancels Resignation

<!-- -->Navjot Sidhu met Rahul Gandhi at his residence (File).New Delhi: Punjab Congress chief Navjot Singh Sidhu met...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -
%d bloggers like this: